Translate to...

सिर्फ दूसरी लहर में अबतक 2 लाख से ज्यादा लोगों ने गंवाई जान, रोजाना औसतन 2,000 मौतें

नई दिल्ली
कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने भारत में जमकर तबाही मचाई है। दूसरी लहर के दौरान भारत में कोरोना से मरने वालों की संख्या 2 लाख के पार हो गई है। साल 2020 में महामारी शुरू होने के बाद से हर 5 में 3 मौतें कोरोना संक्रमण की वजह से हुई हैं। वहीं, दूसरी लहर की शुरुआत के बाद एक मार्च से अबतक देश में कोरोना ने रोजाना औसतन करीब 2000 लोगों की जान ली है। दूसरी लहर में होने वाली मौतें अबतक देश में हुई सभी कोविड मौतों का लगभग 57% है। आपको बता दें कि कोरोना की शुरुआत से अबतक देश में 3,63,029 लोगों की मौत कोरोना के कारण हुई है।


दुनिया में सबसे ज्यादा मौतें ब्राजील में
दुनिया की बात करें तो कोरोना की दूसरी लहर में सबसे ज्यादा मौतें ब्राजील में हुई हैं। ब्राजील में बीते 102 दिनों के दौरान 2.25 लाख मौतें कोरोना वायरस से हुई हैं जबकि अमेरिका में 1 मार्च से अब तक 82,738 मौतें हुई हैं। अमेरिका में कोरोना से अब तक कुल 6.1 लाख लोगों की जान जा चुकी है जो कि पूरी दुनिया में सबसे अधिक है।




मौतों के आंकड़ों में सुधार
राहत की बात यह है कि भारत में बीते 3 हफ्तों से कोरोना के रोजाना आने वाले मामलों में गिरावट देखी जा रही है। हालांकि मौतों का आंकड़ा जरूर चिंता का सबब बना हुआ है। जून के पहले हफ्ते में करीब 16,300 लोगों की मौत हुई है। कुल मौतों के आंकड़ों में सुधार भी किया गया जिसमें महाराष्ट्र में 11,583, बिहार में 3951 और उत्तराखंड में 779 मौतें शामिल हैं। पिछले दो दिनों में ही 5,873 मौतें जोड़ी गई हैं जिनमें से बिहार की 3,951 और बाकी महाराष्ट्र से हैं। बिहार से मिले मौतों के नए आंकड़ों के कारण ही देश में बुधवार को कुल मौतों का आंकड़ा 6 हजार पार कर गया था। हालांकि विशेषज्ञों ने मौत के सही आंकड़े उपलब्ध कराने का स्वागत भी किया और कहा कि इससे सटीक जानकारी मिलने में मदद होगी।




दूसरी लहर में सबसे ज्यादा मामले भारत में
अगर हम कुल मामलों की बात करें तो देश में महामारी की शुरुआत के बाद करीब 62 फीसदी कोरोना मामले दूसरी लहर में सामने आए। देश में 1 मार्च 2021 से अब तक 1.8 करोड़ मामले सामने आए जबकि महामारी की शुरुआत से अब तक कुल 2.9 करोड़ संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं। वहीं, एक मार्च से अबतक ब्राजील में 65.7 लाख केस और अमेरिका में 48.7 लाख केस सामने आए हैं।