Translate to...

येदियुरप्पा के भविष्य पर रविवार शाम तक फ़ैसला?

क्या बीजेपी केंद्रीय नेतृत्व कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी. एस. येदियुरप्पा को पद से हटाने पर फ़ैसला रविवार शाम तक ले लेगा क्या मुख्यमंत्री इस्तीफ़ा दे देंगे या उससे जुड़ा एलान कर देंगे

इस तरह की अफ़वाह उड़ रही है और येदियुरप्पा के इस्तीफ़े के कयास लगाए जा रहे हैं। इसकी वजह कर्नाटक के मुख्यमंत्री ख़ुद हैं।

येदियुरप्पा ने पत्रकारों से कहा है, "यदि शाम तक कोई मैसेज आता है तो मैं आपको तुरन्त बताऊँगा।"

इसके दो दिन पहले येदियुरप्पा ने कहा था कि '26 जुलाई को सरकार के दो साल पूरे होने के मौके पर एक कार्यक्रम रखा गया है। उसके बाद पार्टी अध्यक्ष जे. पी. नड्डा जो भी कहेंगे, मैं करूँगा।'

कर्नाटक बीजेपी या केंद्रीय नेतृत्व ने इस मुद्दे पर रविवार को कुछ नहीं कहा है, पर येदियुरप्पा के बयान से इस अफ़वाह को बल मिला है कि वे जल्द से जल्द इस्तीफ़ा दे देंगे।

पहले क्या कहा था येदियुरप्पा ने

येदियुरप्पा ने कहा था, "मैं अपने अगले कदम के बारे में 25 जुलाई के बाद ही जान पाऊंगा, और मैं बीजेपी आला कमान के निर्णय का पालन करूंगा।"

उन्होंने इसके आगे कहा था, "मैं पार्टी को मजबूत करने का काम करूंगा और बीजेपी को कर्नाटक की सत्ता में वापस लाने के लिए काम करूंगा।"

इसके कुछ दिन पहले ही येदियुरप्पा ने ट्वीट कर अपने समर्थकों से अपील की थी कि वे उन्हें मुख्यमंत्री पद से हटाए जाने की ख़बरों को लेकर किसी तरह का प्रदर्शन न करें।

बुधवार को किए गए इस ट्वीट में येदियुरप्पा ने ख़ुद को पार्टी का समर्पित कार्यकर्ता बताया है।

 - Satya Hindi

जे. पी. नड्डा, अध्यक्ष, भारतीय जनता पार्टी

दावेदारों की दिल्ली दौड़

इस बीच मुख्यमंत्री पद के दावेदारों की दिल्ली दौड़ तेज़ हो गई है।

जिन दावेदारों के नाम की सबसे ज़्यादा चर्चा है, उनमें राज्य के खनन मंत्री मुरूगेश निरानी का भी नाम है, उन्होंने हालिया दिनों में निरानी ने कई बार दिल्ली का दौरा कर अमित शाह सहित कई बड़े नेताओं के साथ मुलाक़ात की है।

निरानी का भी लिंगायत समुदाय में अच्छा प्रभाव माना जाता है। इसके अलावा लिंगायत समुदाय के विधायक अरविंद बेल्लाड ने भी दिल्ली में डेरा डाला हुआ है।

इसके अलावा जिन नेताओं ने दिल्ली की परिक्रमा बीते दिनों में की है, उनमें लिंगायत समुदाय से आने वाले उद्योग मंत्री जगदीश शेट्टार, आदिवासी समाज से आने वाले मंत्री बी. श्रीरामुलु का भी नाम शामिल है।

मुरूगेश निरानी की उम्र 56 साल, प्रहलाद जोशी की उम्र 58 साल, सीटी रवि की उम्र 54 साल. अश्वथ नारायण की उम्र 52 साल और बीएल संतोष और अरविंद बेल्लाड की उम्र 51 साल है। इनमें से किसी एक नाम पर हाईकमान मुहर लगा सकता है।