बॉक्सर हुसामुद्दीन सेमीफाइनल में, अमित पंघाल क्वार्टरफाइनल में हारे

बॉक्सर हुसामुद्दीन सेमीफाइनल में, अमित पंघाल क्वार्टरफाइनल में हारे
नई दिल्ली
मोहम्मद हुसामुद्दीन (57 किग्रा) ने सेमीफाइनल में पहुंचकर एक पदक पक्का कर लिया लेकिन विश्व चैम्पियनशिप के रजत पदक विजेता अमित पंघाल (52 किग्रा) स्पेन के कास्टेलोन में चल रहे 35वें बॉक्साम अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी टूर्नामेंट के क्वार्टरफाइनल में गुरुवार को हारकर बाहर हो गए।

राष्ट्रमंडल खेलों के कांस्य पदक विजेता हुसामुद्दीन (57 किग्रा) ने इटली के सिमोन स्पाडा को 5-0 से हराकर अंतिम चार में प्रवेश किया जहां उनका सामना पनामा के ओरलांडो मार्टिनेज से होगा।

ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुके एशियाई खेलों और एशियाई चैम्पियनशिप के रजत पदक विजेता पंघाल विभाजित फैसले में यूरोपीय खेलों के चैम्पियन गैब्रियल एस्कोबार से हारकर बाहर हो गए।


पंघाल के लिए यह हार चौंकाने वाली रही जिन्होंने दो महीने पहले कोलोन विश्व कप में स्वर्ण पदक जीता था। 23 साल के इस मुक्केबाज को एस्कोबार के खिलाफ कमजोर डिफेंस का खामियाजा हार से भुगतना पड़ा।

स्पेनिश मुक्केबाज ने शुरुआती राउंड में ही उन्हें चौंका दिया, हालांकि पंघाल ने अंतिम तीन मिनट में वापसी की लेकिन तब तक एस्कोबार को जीत के लिये अंक मिल चुके थे।

वहीं हुसामुद्दीन ने स्पाडा के खिलाफ दबदबा बनाया, मुकाबले में उनका फुटवर्क शानदार रहा और उन्होंने बेहतरीन मुक्कों से अपने प्रतिद्वंद्वी को पस्त किया। इससे पहले एशियाई चैम्पियन पूजा रानी (75 किलो) सेमीफाइनल में पहुंच गई जबकि दो बार की विश्व कांस्य पदक विजेता लवलीना बोरगोहेन (69 किलो) क्वार्टर फाइनल में हारकर बाहर हो गई ।

बुधवार को देर रात खेले गए मुकाबलों में रानी ने इटली की असुंता कैनफोरा को हराया । इससे पहले एम सी मैरीकॉम (51 किलो), सिमरनजीत कौर (60 किलो) और जास्मीन (57 किलो) अंतिम चार में पहुंच चुकी है ।

रानी तीन बार की एशियाई पदक विजेता और 2014 एशियाई खेलों की कांस्य पदक विजेता है। तोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुकी लवलीना को रूस की सादम दालगातोवा ने 5 -0 से हराया । एशियाई कांस्य पदक विजेता मनीषा मौन (57 किलो) भी इटली की इरमा तीस्ता से 5-0 से हारकर बाहर हो गई।