पीटरसन बोले, अगर इंग्लैंड जीत जाता अहमदाबाद टेस्ट तो पिच पर नहीं होती कोई बात

अहमदाबादभारत ने जो रूट की कप्तानी वाली इंग्लैंड की टीम को सीरीज के तीसरे टेस्ट मैच में दो दिन में ही 10 विकेट से हरा दिया। इस पर इंग्लैंड के पूर्व कप्तान (Kevin Pietersen) ने कहा कि मेहमान टीम के खिलाड़ियों को पिच का बहाना नहीं बनाना चाहिए।

अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में भारत ने 10 विकेट से जीत दर्ज कर 4 मैचों की सीरीज में 2-1 की बढ़त बना ली। इंग्लैंड पहली पारी में 112 और दूसरी पारी में 81 रन ही बना पाया। भारत ने पहली पारी में 145 रन बनाए जिसके बाद मेजबानों ने 49 रन के टारगेट को 7.4 ओवर में हासिल कर लिया।


पढ़ें,



केविन पीटरसन इंग्लैंड के कुछ पूर्व खिलाड़ियों और प्रशंसकों से खुश नहीं थे जिन्होंने भारत के खिलाफ इंग्लैंड टीम के हाल के दो मैचों में हार के लिए पिच को दोषी ठहराया। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान, माइकल वॉन, एंड्रयू स्ट्रॉस और एलेस्टेयर कुक ने कहा था कि पिच की स्थिति मेहमान टीम के खराब प्रदर्शन के लिए पिच भी जिम्मेदार है।



भारत ने पहले टेस्ट मैच में 227 रन की हार झेलने के बाद चेन्नै में दूसरे टेस्ट में 317 रन से जीत दर्ज की थी।

पीटरसन ने टॉकस्पोर्ट से कहा, 'अगर इंग्लैंड ने यह टेस्ट मैच जीत लिया होता तो ऐसी कुछ नहीं होता कि हम यहां बैठकर बात कर रहे होते। इस विकेट के बारे में कुछ भी खतरनाक नहीं था। उस पर आईसीसी की नजर है।'



उन्होंने आगे कहा, 'अगर विकेट खतरनाक है, तो जब आईसीसी अंक घटाने का फैसला कर सकती है। हां, इस टेस्ट मैच में निश्चित रूप से बल्ले पर गेंद की जीत हुई और यह एकतरफा रहा। आप भारतीय उप-महाद्वीप में हैं। जब आप पर्थ जाते हैं, तो वहां क्या होता है?'



इससे पहले जो रूट ने कहा था कि उनकी टीम की बल्लेबाजी खराब रही। रूट ने दो दिन में मैच खत्म होने को लेकर कहा, 'यह शर्म की बात है क्योंकि यह एक शानदार स्टेडियम है और करीब 60 हजार लोग इस उम्मीद से आए थे कि एक बेहतरीन और यादगार मैच देखने को मिलेगा। मुझे लगता है कि उनके साथ धोखा हुआ।' सीरीज का चौथा और अंतिम टेस्ट मैच अहमदाबाद में ही 4 मार्च से खेला जाएगा।