जिस वजह से हार रहा इंग्लैंड, विराट कोहली ने किया उस पॉलिसी का समर्थन!

जिस वजह से हार रहा इंग्लैंड, विराट कोहली ने किया उस पॉलिसी का समर्थन!
अहमदाबादभारतीय कप्तान विराट कोहली का मानना है कि जैविक रूप से सुरक्षित माहौल के समय में रोटेशन नीति उपयुक्त है क्योंकि कड़े क्वारंटीन को देखते हुए मानसिक थकान के कारण खिलाड़ियों की भूख बरकरार रहना बेहद मुश्किल है। इंग्लैंड की टीम भारत के मौजूदा दौरे पर रोटेशन नीति अपना रही है जिसकी केविन पीटरसन जैसे दिग्ग्जों ने आलोचना की है।

कोहली का हालांकि मानना है कि जब तक खिलाड़ी जैविक रूप से सुरक्षित माहौल का हिस्सा हैं तब तक बीच-बीच के ब्रेक बुरा विचार नहीं है। कोहली ने इंग्लैंड के खिलाफ यहां होने वाले चौथे और अंतिम टेस्ट की पूर्व संध्या पर कहा, ‘जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में जिस तरह नियमों का पालन करना पड़ता है उससे चीजें कभी कभी काफी नीरस हो जाती हैं और छोटी चीजों को लेकर खुद को उत्साहित रखना बेहद मुश्किल होता है।’

वर्ष 2020 में कोरोना वायरस महामारी के कारण ब्रेक के बाद सभी टूर्नमेंट जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में खेले जा रहे हैं। कोहली ने कहा, ‘मुझे लगता है कि खेल का कोई भी प्रारूप ब्रेक के लिए सही है। कोई भी इंसान पूरे साल इतने सारे मैच नहीं खेल सकता। सभी को ब्रेक के लिए समय की जरूरत है।’ कोहली ने हालांकि कहा कि रोटेशन नीति की सफलता के लिए मजबूत बेंच स्ट्रैंथ बेहद जरूरी है। उन्हें खुशी है कि इस मामले में भारत किसी से पीछे नहीं है।




उन्होंने कहा, ‘हमारी बेंच स्ट्रैंथ कहीं अधिक महत्वपूर्ण है क्योंकि अगर आपके पास ऐसे खिलाड़ी हैं जिनमें भूख है, जो तैयार हैं, जो समझते हैं कि खेल किस तरफ जा रहा है और उनमें मौकों का फायदा उठाने का साहस है तो फिर हम आसान से खिलाड़ियों को रोटेट कर सकते हैं।’ यह पूछने पर कि क्या बाएं हाथ के स्पिनर कुलदीप यादव अब टीम की योजनाओं का हिस्सा नहीं है तो कोहली ने कहा कि ऐसा नहीं है। कुलदीप ने एक समय युजवेंद्र चहल के साथ सीमित ओवरों के क्रिकेट में घातक स्पिन जोड़ी बनाई थी लेकिन अब वह टीम की पहली पसंद नहीं हैं।




कोहली ने कहा, ‘उuका (कुलदीप) खेल बिलकुल ठीक है, वह अपनी सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी कर रहे हैं। लेकिन संयोजन, हमें सुनिश्चित करने की जरूरत है कि हम सभी पहलुओं पर खरे उतरें और हमारी टीम सबसे अधिक संतुलित हो।’ उन्होंने कहा, ‘अगर रविंद्र जडेजा खेल रहे हैं और फिर आप तीसरे स्पिनर की बात कर रहे हैं तो कुलदीप के चुने जाने की संभावना अधिक है।’ कोहली ने कहा, ‘अभी हम ऐश (रविचंद्रन अश्विन), वाशी (वॉशिंगटन सुंदर) और अक्षर (पटेल) के साथ खेल रहे हैं। यह सब संयोजन पर निर्भर करता है। अगर लोग अच्छे नहीं हैं तो वे भारतीय टीम का हिस्सा नहीं होंगे, यह सामान्य सी बात है।’




कोहली ने अब तक सीरीज में बल्लेबाजी के लिए चेतेश्वर पुजारा की आलोचना को भी खारिज किया। उन्होंने कहा, ‘लगभग चार साल पहले तक विदेशी सजरमीं पर रन नहीं बनाने के लिए उसकी आलोचना होती थी। अब वह भारत के बाहर आपके लिए प्रदर्शन कर रहा है। कुछ पारियों में सभी बल्लेबाज जूझते हैं। रोहित (शर्मा) अच्छा खेला, ऐश अच्छा खेला, जिंक्स (अजिंक्य रहाणे) ने अर्धशतक बनाया, मैंने दो बनाए।’ भारतीय कप्तान ने कहा, ‘यह आसान नहीं होता इसलिए अगर आप स्वेदश में उसके खेल की आलोचना शुरू कर दोगे तो फिर को यह उसके लिए सही होगा। मैं लगातार यह कहता रहता हूं, जिंक्स के साथ पुजारा हमारे सबसे महत्वपूर्ण टेस्ट खिलाड़ी हैं।’