Translate to...

चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे को पर्याप्त मौके मिल चुके हैं: गौतम गंभीर

नई दिल्ली
टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने कहा है कि को पर्याप्त मौके मिल चुके हैं। उनका मानना है कि उन्हें कोई हैरानी नहीं होगी अगर साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में हार के बाद दोनों को टीम से ड्रॉप कर दिया जाए।

भारतीय टीम ने साउथ अफ्रीका दौरे पर रहाणे और पुजारा का पूरा सपॉर्ट किया। बीते काफी वक्त से उनका फॉर्म अच्छा नहीं था लेकिन टीम ने साउथ अफ्रीका दौरे पर अनुभव को तरजीह दी।

ये दोनों अनुभवी खिलाड़ी भारतीय टीम में अपनी जगह बचाने के लिए संघर्ष कर रहे थे। लेकिन दोनों ही साउथ अफ्रीका में प्रभावित करने में नाकाम रहे। इस दौरे पर उनके लिए हालात और बुरे ही साबित हुए। रहाणे ने जहां तीन टेस्ट मैचों में 136 रन बनाए वहीं पुजारा ने 124 रनों का योगदान दिया। आखिरी दो टेस्ट मैचों में भारतीय बल्लेबाज बुरी तरह असफल रहे। सीरीज में भारत की हार का बड़ा कारण बल्लेबाजों की असफलता रही। कप्तान कोहली ने भी तीसरे टेस्ट में टीम की हार की वजह बल्लेबाजों की फॉर्म बताया।

गंभीर ने स्टार स्पोर्ट्स के साथ बातचीत में कहा, 'पुजारा और रहाणे को पर्याप्त समर्थन दिया जा चुका है। इसे देखने के अब दो तरीके हैं। टीम प्रबंधन ने इस जोड़ी का भरपूर समर्थन किया है। आपको यह भी देखना चाहिए कि विहारी 28 साल के हैं।'

गंभीर ने आगे कहा कि भारतीय टीम को अब हनुमा विहारी, शुभमन गिल और श्रेयस अय्यर को श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में आजमाना चाहिए।

गंभीर ने आगे कहा, 'इससे पहले कि उनका वक्त चला जाए आपको उनका समर्थन करना चाहिए। ऐसा ही श्रेयस अय्यर के साथ है, जिन्होंने कानपुर टेस्ट में सेंचुरी लगाकर अपनी प्रतिभा पहले ही दिखा दी है। शुभमन गिल भी एक उभरते हुए खिलाड़ी हैं। रहाणे और पुजारा को पता है कि उन्हें काफी मौके मिल चुके हैं। और अगर अगली सीरीज में ड्रॉप किए जाने पर उन्हें हैरानी नहीं होगी।