अक्षर और अश्विन के आगे नतमस्तक इंग्लैंड, 1980 के बाद पहली बार हुआ ऐसा

अक्षर और अश्विन के आगे नतमस्तक इंग्लैंड, 1980 के बाद पहली बार हुआ ऐसा
अहमदाबादलेफ्ट आर्म स्पिनर अक्षर पटेल (6/38) और ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (3/26) की शानदार गेंदबाजी से भारत ने यहां मोटेरा के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच में बुधवार को इंग्लैंड की पहली पारी 112 पर ढेर कर दी। भारत ने डिनर तक बिना विकेट खोए पांच रन बना लिए हैं और वह अभी इंग्लैंड के स्कोर से 107 रन पीछे है। भारत और इंग्लैंड के बीच तीसरा टेस्ट डे-नाइट है और इसे गुलाबी गेंद से खेला जा रहा है।

इंग्लैंड के कप्तान जोए रूट ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया, लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने उनके फैसले को गलत साबित कर दिया। इंग्लैंड की तरफ से सलामी बल्लेबाज जैक क्राउले ने 84 गेंदों पर 10 चौकों की मदद से सर्वाधिक 53 रन बनाए। भारत की ओर से अक्षर ने 38 रन देकर छह विकेट, अश्विन ने 26 रन देकर तीन विकेट और अपना 100वां टेस्ट खेल रहे तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा ने 26 रन देकर एक विकेट लिया।


पढ़ें-

भारतीय जमीन पर दूसरा न्यूनतम स्कोरयह इंग्लैंड का भारतीय जमीन पर टेस्ट मैच में दूसरा सबसे न्यूनतम स्कोर है। इससे पहले 1979-80 में मुंबई में हुए टेस्ट मैच में इंग्लैंड की पारी 102 रन पर ऑलआउट हुई थी, जो उसका भारत में टेस्ट में न्यूनतम स्कोर था। इसके अलावा इंग्लैंड का भारत के खिलाफ टेस्ट का यह चौथा न्यूतनम स्कोर है। इंग्लैंड की पारी 1971 में द ओवल में खेले गए मुकाबले में 101 रन पर ऑलआउट हुई थी जो उसका भारत के खिलाफ टेस्ट में अबतक का न्यूतनम स्कोर है। इसके अलावा इंग्लैंड 1986 में लीड्स में हुए टेस्ट में 102 रन पर सिमटी थी जो उसका भारत के खिलाफ तीसरा न्यूनतम स्कोर है।


देखें-

इंग्लैंड की खराब शुरुआतइससे पहले इंग्लैंड की शुरुआत बेहद खराब रही और उसने पहले सत्र में चायकाल तक 81 रन पर ही चार विकेट गंवा दिए थे। इंग्लैंड ने अपने दो रन के स्कोर पर ही अपना पहला विकेट गंवा दिया। डॉमनिक सिबले सात गेंद खेलने के बावजूद खाता नहीं खोल पाए और ईशांत की गेंद पर स्लिप में रोहित को कैच दे बैठे। इसके बाद बल्लेबाजी करने आए जॉनी बेयरस्टो भी टीम के 27 के स्कोर पर दूसरे बल्लेबाज के रूप में पवेलियन लौट गए।

बेयरस्टो भी अपना खाता नहीं खोल पाए और नौ गेंदों का सामना करने के बाद अक्षर की गेंद पर पगबाधा आउट हो गए। हालांकि रूट और क्राउले ने तीसरे विकेट के लिए 47 रनों की साझेदारी करके इंग्लैंड को थोड़ी मजबूती दी। लेकिन लंबी होती जा रही इस साझेदारी को अनुभवी आफ स्पिनर अश्विन ने रूट को आउट करके तोड़ा। रूट भारतीय गेंदबाज अश्विन की गेंद को समझ नहीं पाए और पगबाधा आउट हो गए। आउट होने के बाद रूट ने डीआरएस लिया, जोकि उनके खिलाफ ही गया और उन्हें पवेलियन लौटना पड़ा। रूट ने 37 गेंदों पर दो चौकों की मदद से 17 रन बनाए।


पढ़ें-
कप्तान रूट के आउट होने के कुछ देर बाद ही क्राउले के धैर्य ने भी जवाब दे दिया और वह भी आउट हो गए। क्राउले टीम के 80 के स्कोर पर चौथे विकेट के रूप में चलते बने। क्राउले को अक्षर ने पगबाधा किया। उन्होंने 53 रनों का योगदान दिया और अपने करियर का चौथा अर्धशतक पूरा किया। चायकाल के तुरंत बाद ओली पोप को अश्विन ने बोल्ड कर पवेलियन भेजा। पोप ने 12 गेंद में एक रन बनाए। पोप के आउट होने के कुछ देर बाद ही अक्षर ने बेन स्टोक्स को पगबाधा आउट किया। स्टोक्स ने 24 गेंदों पर एक चौके के सहारे छह रन बनाए।


पढ़ें-
स्टोक्स के बाद अक्षर ने एक बार फिर शानदार गेंदबाजी का परिचय दिया और जोफ्रा आर्चर को बोल्ड कर इंग्लैंड को सातवां झटका दिया। आर्चर ने 18 गेंदों पर 11 रन में दो चौके लगाए। आर्चर के आउट होने के कुछ देर बाद ही अश्विन ने चेतेश्वर पुजारा के हाथों कैच कराकर जैक लीच को आउट किया। लीच ने 14 गेंदें खेल तीन रन बनाए। अक्षर ने लड़खड़ाती इंग्लैंड की पारी को नौंवां झटका स्टुअर्ट ब्रॉड को जसप्रीत बुमराह के हाथों कैच कराकर दिया। ब्रॉड ने तीन रन बनाए। इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज बेन फोक्स कुछ देर क्रीज पर टिके, लेकिन अक्षर ने बोल्ड कर उन्हें आउट किया और इंग्लैंड की पहली पारी को दूसरा सत्र खत्म होने से पहले ही सिमेट दिया। फोक्स ने 58 गेंदों पर एक चौके की मदद से 12 रन बनाए।